घृणित बयान पर भाजपाई आदिवासी मंत्रियो के पुतलों में आग

भाजपा प्रवक्ता विश्वदिनी पांडे के बयान से आदिवासियों में आक्रोश
भाजपा प्रवक्ता विश्वदिनी पांडे द्वारा एक क्षेत्रीय चैनल में आदिवासियों को लेकर दिए विवादित बयान पर आदिवासी समुदाय में आक्रोश की ज्वाला भड़क उठी है। बस्तर के सभी जिलो में मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर गिरफ्तारी की मांग की जा रही है। बस्तर के तमाम आदिवासी छात्र संगठनों, सर्व आदिवासी समाज, संयुक्त मूल समाज द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रह है।
आज 4 दिसम्बर को रायपुर स्थित बुढातालाब में आदिवासी युवा संगठन के छात्रों ने धरना प्रदर्शन कर रैली निकालते हुए भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की । युवा संगठनों द्वारा मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। रैली को बूढ़ा तालाब के पास ही पुलिस द्वारा रोक लिया गया। जहाँ युवा आदिवासी छात्र सड़क पर ही घंटो डटे रहे और नारेबाजी कर कार्यवाही की मांग करने लगे। युवा संगठन द्वारा दो दिन के अंदर कार्यवाही की मांग की जा रही थी।  पुलिस आधिकारियों द्वारा कार्रवाई का आश्वासन  दिए जाने के बाद विरोध समाप्त किया गया।
आदिवासी मंत्रियो का पुतला जलाया गया 
जानकारी हो कि युवा संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन के दौरान आदिवासी मंत्रियो के द्वारा सरकार की चाकरी का आरोप लगाते तमाम आदिवासी मंत्रियो का पुतला दहन किया गया। आदिवासी युवाओं ने कहा कि हमारे आदिवासी मंत्री ही सरकार की जी हुजूरी करने में लगे है। अभी तक किसी भी आदिवासी मंत्री के मुंह से एक शब्द भी नहीं निकला है। ये मन्त्र बन कर आदिवासी के दमन में ही लगे हुए है। लेकिन युवा और छात्र संगठनों द्वारा ऐसा नहीं होने दिया जायेगा । हम हमारे सारे आदिवासी मंत्रियों के इस चुप्पी का विरोध करते है।
कार्रवाई नहीं तो उग्र आन्दोलन की चेतवानी 
आदिवासी युवा संगठनों ने बताया कि अगर भाजपा सरकार प्रवक्ता के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है । इस मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं करती है । तो हम उग्र आन्दोलन करेगे। भाजपा प्रवक्ता के द्वारा दिए गए इस घृणित बयान का हम पुरजोर विरोध करेंगे। हमें दो दिन का आश्वासन दिया गया है । अगर कार्रवाई नहीं हुई तो छत्तीसगढ़ के हर जिला मुख्यालय, संभाग मुख्यालय एवं ब्लाक मुख्यालय में धरना  देकर भारी विरोध प्रदर्शन किया जायेगा ।
भानुप्रतपुर में आप पार्टी का आमरण अनशन 
IMG-20161204-WA0004
भाजपा प्रवक्ता के द्वारा दिए गए विवादित बयान को लेकर भानुप्रतापुर में कोमल हुपेंडी, देव नरेटी, हरीश चक्रधारी द्वारा 1 दिसम्बर से आमरण अनशन कर अन्न जल त्याग दिया गया है एवं भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की जा रही है। आमरण अनशन में आप पार्टी के जिला संयोजक भी लोक सभा संयोजक सम्मिलित हैं। अनशन स्थल पर आदिवासी युवा पहुँचकर अपना समर्थन दे रहे है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने किया अपने प्रवक्ता को निलंबित बयान को बताया निजी विचार 
वही खबर है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरम लाल कौशिक द्वारा भाजपा प्रवक्ता विश्वादिनी पांडे को निलंबित कर, उसे टीवी में दिए बयान को निजी विचार बताया है। दूसरी ओर अभी तक कोई भी भाजपा नेता या मंत्री ने सामने आकर उनके प्रवक्ता द्वारा दिए गए बयान का अब तक विरोध नहीं किया है। वही कांग्रेस भी अपने आप को किनारे करते हुए मामले से बचने की कोशिश कर रही है।
 अब सवाल यही है कि भाजपा सरकार लगातर युवा संघठनों, तमाम मूलनिवासी संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन को लेकर क्या प्रवक्ता द्वारा दिए गए घृणित बयान को लेकर कार्रवाई करेगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *