आदिवासियों पर भाजपा के घृणित बयान से छत्तीसगढ़ में आक्रोश

रायपुर @ भूमकाल समाचार. आदिवासियों पर अत्याचार, दमन और फर्जी मुठभेड़ में हत्याओं के लिए जग-प्रसिद्ध छत्तीसगढ़ राज्य की भाजपा सरकार ने बस्तर एवं जशपुर अंचल के आदिवासियों को लेकर घृणित बयान दिया है | एक क्षेत्रीय न्यूज चैनल में मानव तस्करी के मुद्दे पर चल रही बहस के दौरान भाजपा की महिला प्रवक्ता विश्वादिनी के बयान से पूरा आदिवासी समाज आक्रोश में है, भाजपा की प्रवक्ता ने डिबेट के दौरान कहा कि बस्तर और जशपुर अंचल में प्रथायें होती है,जिनमे बच्चियों को उनके अभिभावक देह व्यापार के लिए इस्तेमाल करते है, इतना ही नहीं भाजपा प्रवक्ता ने यह भी कहा कि देह व्यापार को रोजी रोटी का जरिया बनाया जाता है| डिबेट के दौरान ऐसे बयान देने पर सामाजिक कार्यकर्त्ता ममता शर्मा ने उन्हें टोकते हुए कहा कि बस्तर में ऐसी  कोई प्रथा नहीं है अनर्गल बात कर रही है|

वही इस बयान के बाद आदिवासी सामाज आक्रोश में, आदिवासी छात्र युवा संगठन की कार्यकर्त्ता बबिता तिर्की ने भूमकाल संवाददता से कहा कि इस तरह का सोच भाजपा वाले रखते है तभी इस तरह का बयान दे रहे हैं | सारे आदिवासी युवा छात्र इस बयान की कठोर निदा करते है | आदिवासी समाज में महिलाओ  को समानता का दर्जा दिया गया ।हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है ।जो विश्वदिनी ने कहा है उसका फैसला आज सरकार को करना है क्या भाजपा राज में आज किसी एक जनजाति के लिए ये अभद्र बात बोलने पर भी को कार्यवाही नही होती।।हमारी छात्र इकाई भाजपा की इस महिला प्रवक्ता के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए आन्दोलन करेंगे |

वही छतीसगढ़ जनता कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री वाणी राव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बयान दिया कि आदिवासी देह व्यापार में संलग्न, ऐसे भाजपाई बयान पर मुख्यमंत्री मांगे माफी, रमन सरकार का आदिवासी और महिला विरोधी असली चेहरा फिर सामने आया । श्रीमती राव ने इसे छत्तीसगढ़ के आदिवासियों का अपमान बताते हुए मुख्यमंत्री को इसके लिए तत्काल माफी मांगने कहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रवक्ता का यह बयान आदिवासी और महिला विरोधी भाजपाई सोच को उजागर करता है। उन्होंने कहा कि इसके विरोध में छजकां के कार्यकर्ता विशेषकर महिला, युवा और आदिवासी प्रकोष्ठ के कार्यकर्ता राज्यभर में भाजपा का पुतला दहन करेंगे।

छजकां नेत्री ने कहा कि भाजपा आदिवासियों को महज वोट बैंक ही समझती आई है। राज्य की रमन सरकार आदिवासी और महिला विरोधी है, यह एक बार फिर साबित हो गया है। यह भाजपाईयों की पहचान बन चुकी है कि “मुंह में रमन, जुबान पर गाली”। उन्होंने कहा कि छजकां, भाजपा प्रवक्ता के बयान का कड़ा विरोध करती है और इसके लिए अगर मुख्यमंत्री माफी नहीं मांगेंगे तो छजकां प्रदेशव्यापी जनांदोलन करेगी।

आदिवासी युवा छात्र संगठन की कांकेर इकाई से योशील गोंड ने कहा कि भाजपा प्रवक्ता अपने मुंह से आदिवासियों के लिए विषैले शब्दों का प्रयोग करते अनर्गल बयानबाजी कर रही है | आदिवासी युवा छात्र संगठन भाजपा की महिला प्रवक्ता के ऊपर एसटी/एसी एक्ट के तहत  FIR दर्ज करने की मांग करता है|

सर्व आदिवासी समाज महिला प्रकोष्ट जगदलपुर पदाधिकारी ममता सय्याम ने कहा कि  यह सरकार आदिवासियों का खुला अपमान कर रही है| इस प्रकार के घृणित वक्तव्य का मैं पुरजोर विरोध करती हूँ | आदिवासी संस्कृति नैतिक मूल्यों से समृद्ध है| अत: किसी भी व्यक्ति को आदिवासी समाज या संस्कृति के बारे में बिना जानकारी के कोई भी बात घटिया राजनीति से प्रेरित सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए नही करनी चाहिए| हमारी शालीनता और  सादगी को हमारी कमजोरी न समझा जाए अन्यथा परिणाम गंभीर हो सकते है | आदिवासी समाज में महिलाओं को समानता का अधिकार प्राप्त है और अन्य संस्कृतियों की तुलना में   हम सामाजिक रूप से सशक्त है |

आदिवासी महिला कर्यकर्ता सुशीला धुर्वे ने कहा कि विश्वादिनी जी देह व्यापार आपके पुरखों के संस्कार हैं ( आपके ग्रंथो में वर्णन है ) मेरा पुरखा देह व्यापर नाम की किसी चीज को जानता भी नही था.और है  भा .ज. पा. प्रवक्ता विश्वदिनी ने रिजनल न्यूज चेनल में कहा …बस्तर के मूल वासी अपनी बेटियों से देह व्यापर कराते हैं खुद के समाज की गंदगी को गोंडो का बता रही है …कबूल करने की औकात नही है की यह गंदगी उसके समाज की है

One thought on “आदिवासियों पर भाजपा के घृणित बयान से छत्तीसगढ़ में आक्रोश

  • 06/12/2016 at 8:07 PM
    Permalink

    कथित सभ्यता का ढिंढोरा पीटने वालों ने अपने स्वार्थ के लिए हमेशा दूसरों को नीचा दिखाने का प्रयास किया और इस हेतु साम दाम दण्ड भेद उनका मंत्र रहा पौराणिक शम्बूक एकलव्य से लेकर वर्तमान मीना खलखो सोनी सोरी तक!पूंजी इकट्ठा करने वाले समाजसेवक और लुटेरे हत्यारे रक्षक होने का दंभ भर रहे !ये जी समूह भी चाशनी में लिपटा हुआ!बलात्कारों हत्याओं पर चुप्पी सभ्यता का गुणगान करती है?

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *